Halloween party ideas 2015

➤ भारतीय संविधान से जुड़ी महत्वपूर्ण रोचक बातें, जिन्हें हर भारतीय को जानना चाहिए 
Interesting Facts About The Indian Constitution You Should Know

➤ भारतीय संविधान के बारे में 15 रोचक तथ्य 
15 Interesting facts about Indian Constitution

➤ भारतीय संविधान : सामान्य ज्ञान 
Important Facts You Should Know About the Indian Constitution

➤ गणतंत्र दिवस  से जुड़ी रोचक तथ्य 
➤ 26 जनवरी से जुड़ी महत्वपूर्ण रोचक बातें, जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए 
Interesting facts about Republic Day 26 January

➤ विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु भारतीय संविधान से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी 
Important General Knowledge for All Competitive Exams

➤ जानिए, कितना खास है हमारा संविधान 


सैकड़ों सालों की गुलामी के बाद 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हुआ, देश के सामने कई चुनौतियां थी, जिसमें प्रमुख था देश का संवैधानिक ढांचा कैसा हो ? आखिरकार देश के विचारकों और राजनेताओं ने मिलकर संविधान का मसौदा तैयार किया, जिसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। इस दिन को 'गणतंत्र दिवस' के रूप में देशभर में मनाया जाता है। हमारा संविधान आज भी पूरी दुनिया का सबसे बेहतर संविधान माना जाता है। 
➤ आइए जानें भारतीय संविधान से जुड़े महत्वपूर्ण रोचक तथ्य -

➨ भारत का संविधान निर्माण के लिए कैबिनेट मिशन के प्रावधानों के अनुसार राज्यों की विधानसभाओं द्वारा नवंबर 1946 में संविधान सभा का गठन किया गया।


➨ संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को संसद के संविधान कक्ष में हुई थी। आज इस जगह को संसद के सेंट्रल हॉल के नाम से जाना जाता है।


➨ भारत के संविधान का मसौदा तैयार करने वाली समिति की स्थापना 29 अगस्त 1947 में हुई। इस समिति का अध्यक्ष डॉ. भीमराव अंबेडकर को चुना गया। डॉ. अंबेडकर की हमारे संविधान निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका रही। उन्हें भारत के संविधान का जनक या संविधान निर्माता कहा जाता है।


➨ संविधान निर्माण में 2 साल, 11 महीने और 17 दिन का समय लगा।


➨ संविधान सभा के 284 सदस्यों ने संविधान के प्रारूप पर 24 जनवरी 1950 को दस्तखत किए, जिसमें 15 महिलाएं थी।


➨ जिस दिन संविधान पर हस्ताक्षर किए गए, उस दिन बारिश हो रही थी। भारतीयों ने इसे शुभ संकेत व देश के उज्ज्वल भविष्य के रूप में माना।


➨ भारत का संविधान संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से लागू हुआ। 26 जनवरी का दिन भारत में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।


➨ संविधान सभा ने भारत के राष्ट्रगान के रूप में जन-गण-मन को 24 जनवरी 1950 को अपनाया।


➨ हमारे देश का पूरा संविधान टाइप या प्रिंट किया हुआ नहीं, बल्कि हिन्दी तथा अंग्रेजी दोनों भाषाओं में हस्तलिखित व कैलीग्राफ्ड है।


➨ भारतीय संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान है। इसके 25 भाग हैं, जिसमें 448 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां शामिल हैं।


➨ संविधान की मूलप्रति आज भी भारतीय संसद की लाइब्रेरी में हीलियम से भरे विशेष बॉक्स में रखी गई है।


➨ भारतीय संविधान में पहला संशोधन 1951 में हुआ था।


➨ हमारा संविधान आज भी पूरी दुनिया का सबसे बेहतर संविधान माना जाता है।


➨ भारतीय संविधान में कई अच्छी बातें दूसरे देशों से ली गई हैं, जैसे - पंचवर्षीय योजनाएं सोवियत संघ के संविधान से, आजादी और समानता फ्रेंच के संविधान से एवं सुप्रीम कोर्ट की कार्यप्रणाली जापान के संविधान से ली गई है।


➨ संविधान के अनुसार, गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश को संबोधन राष्ट्रपति द्वारा तथा स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री द्वारा किया जाता है.




मकर संक्रांति 2017 शुभ कामना संदेश
Makar Sankranti Best Wishes Message Video & Images 


➨ सूर्य उपासना का पावन पर्व मकर संक्रांति


➨ तिल-गुड़ खाओ मीठा-मीठा बोलो


➨ मकर संक्रांति का उत्सवी रूप : पतंगबाजी







राष्ट्रीय युवा दिवस (12 जनवरी 2018) : स्वामी विवेकानंद जयंती
Rashtriya Yuva Divas ( 12 January 2018) : Swami Vivekanand Jayanti

स्वामी  विवेकानंद के जीवन बदल देने वाले प्रेरणा सूत्र
Best Motivational Quotes of Swami Vivekananda

युवाओं के ऊर्जास्रोत स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन
 Swami Vivekananda Great Thoughts

स्वामी विवेकानंद - स्वर्णिम सूत्र
Swami Vivekananda Speech in Hindi




➨ उठो, जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त ना हो जाये।




➨ जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी।

➨ संभव की सीमा जानने केवल एक ही तरीका है असम्भव से आगे निकल जाना।


➨ जब तक जीना, तब तक सीखना, अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है।


➨ जब तक आप खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक आप भागवान पे विश्वास नहीं कर सकते।



➨ ब्रह्माण्ड कि सारी शक्तियां पहले से हम में है, वह हम ही है जो अपनी आंखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अंधकार है !


➨ दिल और दिमाग के टकराव में दिल की सुनो।


➨ किसी दिन, जब आपके सामने कोई समस्या ना आये आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं.


➨ अगर धन दूसरों की भलाई  करने में मदद करे, तो इसका कुछ मूल्य है, अन्यथा, ये सिर्फ बुराई का एक ढेर है, और इससे जितना जल्दी छुटकारा मिल जाये उतना बेहतर है।



➨ सबसे बड़ा धर्म है अपने स्वभाव के प्रति सच्चे होना. स्वयं पर विश्वास करो.



नववर्ष नवप्रारंभ - स्तंभ : सबरंग 
'सफलता सूत्र' में अपनी रचनाएं प्रकाशित कराएं एवं पारिश्रमिक पाएं


                                                  'सबरंग' स्तंभ उन प्रतिभाशाली रचनाकारों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रारंभ की जा रही है, जिनकी रचनाएं अच्छी होने के बावजूद उचित मंच के अभाव में अभी तक प्रकाशित नहीं हो पाई हैं। नववर्ष की नवबेला में ऐसे सभी रचनाकारों का इस मंच सबरंग में हार्दिक स्वागत है। 
अपनी सोई हुई रचनात्मक क्षमता को जगाएं एवं नवीन सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ें।
➤ सबरंग के लिए आप ज्ञानवर्द्धक, रोचक, मनोरंजक, ज्ञान-विज्ञान, स्वास्थ्य, कला, संगीत, अध्यात्म, सफलता, साहित्य, कहानी, कविता, लघुकथा, व्यंग्य, विभिन्न दिवस / पर्व पर आधारित लेख,  इन्वेस्टमेंट, मोबाइल, कम्प्यूटर, तकनीक, किचन आदि पर छोटे- बड़े टिप्स एवं ट्रिक्स भेज सकते है।
प्रकाशन योग्य होने पर आपकी रचनाएं 'सबरंग' में प्रकाशित की जाएंगी तथा उनका समुचित पारिश्रमिक दिया जाएगा।
➤ रचनाएं भेजते समय ध्यान रखें -
➨ रचना पूरी तरह मौलिक यानि स्वरचित हो। किसी भी माध्यम से ली गई गई रचनाएं स्वीकार्य नहीं है।
➨ रचना के अंत में अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आई.डी. लिखें। (रचना के साथ सिर्फ आपका नाम प्रकाशित किया जाएगा।)
➨ अपनी रचनाएं इस ईमेल आई.डी. पर भेजें -
umesh@safaltasutra.com
➨ रचनाएं कभी भी भेजी जा सकती है इसके लिए कोई तिथि निर्धारित नहीं है।
➨ रचना प्रकाशित होने के 7 दिनों के अंदर पारिश्रमिक प्रदान कर दी जाएगी। 

नववर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं
मंगलकामना सुख, शांति, स्वास्थ्य और समृद्धि का
दोस्तों नववर्ष की ढ़ेर सारी हार्दिक शुभकामनाएं...
नए साल में  आपका हर लक्ष्य सफल हो। जीवन सुख, शांति, वैभव, ऐश्वर्य, उन्नति, प्रगति, आदर्श, स्वास्थ्य, प्रसिद्धि एवं समृद्धि से संपन्न हो.