Halloween party ideas 2015


नववर्ष के ये संकल्प आपको क्षमतावान, योग्य और श्रेष्ठ बनाने में मददगार सिद्ध होगी...


                                        नववर्ष का एक और शानदार उपहार हमारे जीवन को पुनः नव उमंग-उल्लास, नई ताजगी से भरकर नव सकारात्मक विचारों, नव संकल्पों एवं नव लक्ष्यों की दिशा में कदम बढ़ाने का। आइये इन नवीन बेशकीमती पलों के साथ संकल्प लें मन, वचन, कर्म से स्वस्थ, सुखी और समृद्धशाली बनने का।
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया।।  

सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग - यदि आप अच्छाई की दिशा में आगे बढ़कर कार्य कर रहे हैं तो इस बात पर बिल्कुल भी ध्यान न दें कि लोग क्या सोचेंगे। किसी भी कार्य से हम छोटा या बड़ा नहीं हो जाते। अपनी-अपनी जगह में हर कार्य और इंसान का महत्व है, इसलिए मन लगाकर अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होकर कार्य करें, सफलता आपकी कदम चूमेगी और आप हमेशा खुश रहेंगे।

अहंकार का विसर्जन - खुद को दूसरों से श्रेष्ठ समझना अहंकार है। असफलता, असंतुष्टि और दुखमय जीवन का कारण हमारा अहंकार भी है। अहंकार से क्रोध, ईर्ष्या, द्वेष, घृणा आदि मानसिक दोष उत्पन्न होते है। अहंकार हमारे सोचने समझने की क्षमता को नष्ट कर देता है। इसलिए अहंकार त्यागें और सफलता एवं खुशियों का द्वार खोलें।

कुसंगति एवं नशा से बचें - इन दिनों विविध नशाओं का प्रयोग तेजी से बढ़ रहा है। यह सब कुसंगति का परिणाम है। नशा तन और मन को धीरे धीरे वैसे ही नष्ट कर देती है जैसे कागज को दीमक चाट जाता है। दो घड़ी की मौज-मस्ती के लिए ईश्वर की बनाई सर्वश्रेष्ठ कृति इस शरीर व्यर्थ बीमार एवं नष्ट न करें, बल्कि शरीर को स्वस्थ व मजबूत बनाने का हमेशा प्रयास करें।      

तुलना एवं प्रतिस्पर्धा से बचें - जिस प्रकार दो व्यक्ति की उंगलियों के फिंगर प्रिंट एक समान नहीं हो सकते, उसी प्रकार किन्हीं दो व्यक्ति की आर्थिक, सामाजिक एवं व्यक्तिगत परिस्थितियां कभी भी एक जैसी नहीं हो सकती। इसलिए किसी से तुलना या प्रतिस्पर्धा करना छोड़ें। स्वयं के आत्मविकास में लगे रहें। एक-एक पल का सदुपयोग करते हुई स्वयं के उत्थान के लिए उस दिशा में आगे बढ़ें जो आपको मंजिल तक ले जाए।     

जीवन का सार्थक उद्देश्य बनाएं - जीवन का उद्देश्य सिर्फ धन कमाना, भौतिक सुख-साधन जुटाना एवं जीवन व्यतीत करना भर नहीं है। जीवन व्यतीत तो पशु-पक्षी भी कर अच्छे से कर लेते हैं। बात तो तब है जब हम स्वयं के लिए, परिवार के लिए, समाज के लिए और देश के लिए पूर्ण जिम्मेदारी  के साथ श्रेष्ठ, ईमानदार इंसान बनकर कुछ ऐसा उद्देश्य लेकर चलें जो सबके लिए हितकारी, सुखकारी और कल्याणकारी हो.
                  
निश्चित रूप से नववर्ष के ये संकल्प आपको क्षमतावान, योग्य और श्रेष्ठ बनाने में मददगार सिद्ध होगी।
-- उमेश कुमार

Post a Comment