Halloween party ideas 2015

लू लगने के कारण, लक्षण और बचाव के आसान उपाय
Heat Stroke : Causes, Symptoms and Prevention


                                            ग्रीष्म ऋतु में चलने वाली अत्यंत गर्म हवा के थपेड़ों को लू (Heat Stroke) कहा जाता है। हमारे देश में हर साल सैकड़ों लोग लू लगने से मौत के मुंह में समा जाते हैं। गर्मी के दिनों में विशेष सावधानी बरतकर लू से बचा जा सकता है, फिर भी यदि लू लग जाए तो तुरंत योग्य चिकित्सक की मदद लेनी चाहिए।
लू लगने का कारण (Heat Stroke Causes)
                                           लू लगने का मुख्य कारण है तेज धूप और गर्म हवा का शरीर पर, विशेषकर सिर पर तीव्र आघात होना। खुला शरीर, नंगे सिर व पैर, भूखे-प्यासे तेज धूप और गर्म हवा में घूमने से शरीर का तापमान नियंत्रित करने वाला सिस्टम शरीर को ठंडा नहीं रख पाता, तब शरीर में गर्मी भर जाती है। इससे शरीर का पानी किसी न किसी रूप में बाहर निकल जाता है। शरीर की ठंडकता खत्म हो जाती है, तेज बुखार आने लगता है। इसे लू लगना कहते हैं।
लू लगने के लक्षण (Symptoms of Heat Stroke)
                                          लू लगने से मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है, शरीर टूटने लगता है और प्यास बढ़ जाती है। मुंह सूखना, हथेलियों, तलुओं व आंखों में जलन होना, तेज बुखार होना (कई बार बुखार 105 से 106 फॉरेनहाइट तक पहुंचना), बेचैनी, घबराहट आदि लू लगने के लक्षण हैं।
लू से बचने के आसान उपाय (Easy Tips For Prevention from Heat Stroke)
-- तेज धूप एवं तेज गर्म हवा के थपेड़ों से बचना लू लगने से बचाव का पहला उपाय है।
-- यदि लू के वातावरण में बाहर जाना जरूरी हो तो भूखे-प्यासे या खाली पेट घर से न निकलें। ठंडा पानी पीकर एवं भोजन करके ही बाहर जाएं।
-- सिर, चेहरे, कान व आंख को अच्छी तरह से ढ़ककर ही बाहर निकलें। पैदल जाना हो तो छाता लेकर चलें, दोपहिया वाले हेलमेट लगा लें।
-- कान बंद होने से गर्म हवा यानी लू का असर नहीं होता, इसलिए कानों को तेज लपट से बचाने के लिए तौलिया लपेटकर निकलें।
-- ए.सी., कूलर के ठंडे वातावरण से निकलकर तुरंत गर्म वातावरण में न जाएं। ऐसे ही गर्म वातावरण से आकर तुरंत ठंडे वातावरण में न जाएं। पहले शरीर के तापमान को सामान्य होने दें। अचानक तापमान में हुए बदलाव से लू का खतरा बढ़ जाता है।
-- लू से बचाव के लिए आम का पना, नींबू की मीठी शिकंजी, पोदीना, प्याज, जलजीरा, नारियल पानी, गन्ने का रस, बेल का शर्बत, खस का शर्बत आदि पेय पदार्थों का सेवन करते रहें।
-- एक बड़ा प्याज जेब में रखकर घर से निकलने पर लू नहीं लगती।
-- गर्मी के दिनों में नरम, ढीले, सूती के कपड़े पहने।


Post a Comment