Halloween party ideas 2015

                              'पिता' दो शब्दों में समाहित सारी कायनात। चाहे वो जीवनदाता के रुप में हो, पालनकर्ता के रुप में हो या संचालनकर्ता के रुप में हो, पिता हर दृष्टिकोण से महान है।
                               बचपन में जिसकी उंगलियाँ थाम हम चलना सीखते है, जिसके कांधे में बैठ बचपन का आनंद उठाते है। न जाने कितने हाव-भाव, आचार-विचार हम पिता से सीखते हुए बड़े होते हैं। पिता के संरक्षण में जीवन जीने का मजा ही कुछ और होता है।
                               पिता जिसकी बदौलत हम इस दुनिया में आते हैं, जिसकी मदद से हम जीवन में आगे बढ़ते हैं। जो पिता हमारी समस्या का समाधान करने के लिए हर घड़ी तत्पर रहता है। हमारी तकलीफों को दूर करने स्वयं तकलीफों को अनकहे झेल जाता है। हमें पाल-पोष कर बड़ा करने, पढाई-लिखाई से शादी-ब्याह तक की सारी जिम्मेदारी पिता कितने कष्ट उठाकर करता है, इसे कोई पिता ही समझ सकता है।
                               आइये आज पितृ दिवस के सुअवसर पर संकल्प लें हम हर हाल में पिता का सम्मान करेंगे। उनके हर कष्ट का निवारण करने हमेशा आगे रहेंगे। बुढ़ापे की लाठी बनकर सदा उनका साथ निभाएंगे। क्योंकि एक पिता का कर्तव्य और जिम्मेदारी एक पिता ही समझ सकता है। आज हम अपने पिता के लिए जो भी करेंगे कल हमारे पिता बनने पर वही हमारे साथ किया जायेगा।

पितृ दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं।
HAPPY FATHERS DAY.

रक्तदान-महादान-जीवनदान DONATE BLOOD SAVE LIFE

रक्तदान - एक जानकारी
-- एक पुरुष/महिला के रक्तदान करने से 4 मरीजों की जान बचायी जा सकती है।
-- प्रत्येक पुरुष/महिला साल में 4 बार रक्तदान कर सकता/सकती है।
-- हमारे शरीर में लगभग 5 लीटर रक्त होता है। एक समय में मात्र 350 मि.ली. रक्त ही निकाला जाता है।
-- रक्तदान करने से कोई भी शारीरिक कमजोरी नहीं आती। बल्कि हमारा शरीर पुन: रक्त बना लेता है।

कौन कर सकता है रक्तदान
-- वह पुरुष/महिला जिसकी आयु 18 से 65 वर्ष के बीच हो।
-- जिसका वजन 45 किलो या उससे अधिक हो।
-- जिसका हिमोग्लोबिन कम से कम 12.5 ग्राम प्रति मि.ली. हो।
आइये आज विश्व रक्तदाता दिवस के सुअवसर पर हम सभी संकल्प लें कि रक्तदान कर जरुरतमंदों को जीवनदान का अमूल्य उपहार दें।