Halloween party ideas 2015

Check Internet 2G/3G balance in RELIANCE, IDEA, AIRTEL, TATA DOCOMO, VODAFONE
यदि आप अपना 2G/3G इंटरनेट डाटा यूजेस या बैलेंस के बारे में जानना चाहते हैं, तो लीजिये प्रस्तुत है यह उपयोगी जानकारी -
1. यदि आप Reliance उपभोक्ता हैं तो डायल करें*111*1*3#आपको शेष इंटरनेट डाटा बैलेंस और वैधता समय की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
2. यदि आप IDEA उपभोक्ता हैं तो डायल करें*125#आपको शेष इंटरनेट डाटा बैलेंस और वैधता समय की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
3. यदि आप AIRTEL उपभोक्ता हैं तो डायल करें*123*10#आपको शेष इंटरनेट डाटा बैलेंस और वैधता समय की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
4. यदि आप TATA DOCOMO उपभोक्ता हैं तो डायल करें*111*1#आपको शेष इंटरनेट डाटा बैलेंस और वैधता समय की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
5. 1. यदि आप VODAFONE उपभोक्ता हैं तो डायल करें*111*6#आपको शेष इंटरनेट डाटा बैलेंस और वैधता समय की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।


काम की वेबसाइट
wordspy.com
अंग्रेजी में दिलचस्पी रखने वालों के लिए यह यह पोर्टल बहुत मददगार है।
विभिन्न विषयों से सम्बंधित नये पुराने शब्दों की रोचक जानकारी व शब्दों के उपयोग की सटीक जानकारी यहां पर मिल जाएगी।
यहां पर उपलब्ध एल्फा आर्काइव भी आपकी जानकारी को अपडेट करने में सहायक सिद्ध होगा।

बैसाख की पूर्णिमा को बुद्ध जयंती या बुद्ध पूर्णिमा मनाया जाता है.
आज ही के दिन भगवान बुद्ध को बुद्धत्व प्राप्त हुआ था.भगवान बुद्ध का जन्म, ज्ञान प्राप्ति और महापरिनिर्वाण तीनों आज ही के दिन हुआ था. हिंदू मतावलंबियों के अनुसार बुद्ध भगवान विष्णु के नौवें अवतार हैं. हिंदुओं के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा पवित्र माना जाता है.
बुद्ध पूर्णिमा के दिन अनेक धार्मिक कार्य व दान- पुण्य किया जाता है.श्री लंका  में आज के दिन को 'बेसाक उत्सव' के रूप में मनाया जाता है. दुनिया भर से बौद्ध धर्म के अनुयायी बोधगया आते हैं और प्रार्थना करते हैं.

मां एक छोटा सा शब्द, लेकिन परिभाषा असीम, अनंत। माँ जिसमें समाहित है सम्पूर्ण ब्रह्मांड। माँ एक ऐसी पूर्णता जिसके बाद कुछ शेष नहीं रह जाता। मां महज जन्मदात्री न होकर रचयिता भी है, पालनकर्ता भी है। बिना मां के जग-जीवन की कल्पना भी असम्भव है।
शास्त्रों में कहा गया है - मां और जन्मभूमि स्वर्ग से भी बढ़कर है। शास्त्रों में कही यह कथन आज भी सार्थक है और युगों युगों तक रहेगी। हर दुःख हर तकलीफ को अनकहे स्वयं झेल अपने बच्चे के चेहरे पर हमेशा मुस्कुराहट देखना चाहती है मां।
जन्म से लेकर जीवन के हर पड़ाव पर माँ का योगदान अवर्णनीय है। माँ त्याग और समर्पण की देवी है। माँ शक्ति का प्रतीक है।
सभी मित्रों को मातृ दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं।
HAPPY MOTHERS DAY.हैप्पी मदर्स डे...
सभी माताओं को प्रणाम


गर्मी के मौसम में स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए विशेष सावधानी बरतनी पड़ती है, क्योंकि गर्मी और लू के कारण स्वास्थ्य खराब होने का खतरा रहता है।
आइये जानें इस मौसम से बेअसर रहने के उपाय 
-- जब भी घर से बाहर निकलें ठंडा पानी जरुर पिएं।
-- प्याज जेब में रखकर बाहर जाने से लू लगने की आशंका नहीं रहती।
-- जब लू चल रही हो तो बिना कुछ खाए पिए बाहर न जायें।-- धूप में निकलें तो सर व चेहरे को अच्छी तरह ढककर ही निकलें।
-- लू लगने पर रोगी को कैरी का पना अवश्य दें, यह अत्यंत लाभदायक होता है।
-- धूप से आने के बाद थोड़ी देर आराम करके ही ठंडा पानी या शीतल पेय का सेवन करें।
-- ठंडी जगह से सीधे तेज धूप में या तेज धूप से सीधे ठंडी जगह में जाने से बचें।
-- इस सीजन में खाने पीने में विशेष सावधानी बरतें। तला-भुना, गरिष्ठ, मसालेदार, बहुत गर्म, अधिक चाय-कॉफ़ी, शराब के सेवन से बचें।
--गर्मी के दिनों में हल्का व सुपाच्य आहार लें।
-- दिन भर में कम से कम 8 से 10 गिलास का जरूर पिएं।
-- तेज धूप आंखों पर बुरा असर डाल सकती है, इसलिए सनग्लास या गहरे रंग के चश्में का प्रयोग करें।-- प्रात: भ्रमण अवश्य करें।
-- गर्मी के दिनों में सूती के कपड़े पहनना काफी आरामदायक रहता है, क्योंकि ये पसीने को जल्दी सोख लेते हैं।-- यथासम्भव दोनों वक्त स्नान करें।
-- ताजे फल व हरी सब्जियों जैसे तुरई, गिलकी, चौलाई, पालक, ककड़ी, खीरा, पुदीना, नींबू, तरबूज, खरबूज, पका मीठा आम, बेल, नारियल पानी आदि का सेवन जरुर करें।

Protect yourself from Typhoid
टाइफाइड एक भयानक संक्रामक रोग है। आज से करीब 70 पहले इस महामारी से हजारों लोग मर जाते थे, पर अब नई-नई दवाइयों के अविष्कार और विकास से इस पर काबू पा लिया गया है। टाइफाइड एक प्रकार के जीवाणु से फैलता है।
आयुर्विज्ञान की भाषा में इसे बैसिलस सेलमोनेला टायफोसा कहते हैं। यह गंदे भोजन या गंदे पानी के साथ शरीर में प्रवेश कर खून तक पहुंच जाता है। यह खून को प्रभावित करके पूरी रक्त व्यवस्था को दूषित कर देता है।इस बीमारी में बुखार, खांसी, खाल का उधड़ना, तिल्ली का बढ़ जाना और सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या में कमी हो जाना आदि होता है। इस बीमारी में भूख भी कम लगती है और लगातार बुखार रहता है।
टाइफाइड की जितनी भी महामारियां फैली, उनमें से अधिकांश कुएं, तालाब आदि के पानी के दूषित होने से फैलीं।टाइफाइड के जीवाणु पकने से पहले भोजन सामग्री में भी वाहक द्वारा पहुंच सकते हैं। मक्खियां भी इन जीवाणुओं को इधर से उधर पहुंचाती हैं। टाइफाइड की बीमारी ठीक हो जाने के बाद भी शरीर में ये जीवाणु बचे रह जाते हैं।
टाइफाइड की जांच के लिए विडेल टेस्ट किया जाता है। इसमें खून की जांच की जाती है।

अक्षय तृतीया का महत्व अवर्णनीय है। शास्त्रों के अनुसार आज के दिन स्नान,होम, जप, दान आदि करना अत्यंत फलदायक होता है। अक्षय यानि जो कभी क्षय नहीं होती।अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम का जन्म हुआ इसलिए इस दिन इनकी जयंती मनाई जाती है। 
माना जाता है कि इसी दिन त्रेता युग का आरंभ हुआ। इस दिन विवाह आदि का भी विशेष महत्व है। अक्षय तृतीया के दिन विवाह करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है।सभी मित्रों को भगवान परशुराम जयंती की हार्दिक शुभ कामनाएं।